UP को अब सिर्फ मोदी से आस

पिछले 3 दिन देश के सर्वाधिक बैकवर्ड इलाके में बीते ।
जिला गाज़ीपुर – उत्तर प्रदेश में ।
चुनावी माहौल में भी गाँव में सिर्फ 6 से 8 घंटे बिजली ।
वो आठ घंटे भी दो किश्तों में ।
उसमे भी हर एकाध घंटे बाद 10 -5 मिनट के लिए कट जाती थी ।
सड़कें बेहाल ।
मेरे साथ विपिन भाई थे । विपिन भाई भीलवाड़ा राजस्थान से हैं । हमारे जिले के state highway की दशा देख के बोले , इतनी बदतर सड़कें ? बिजली की ये दशा ? फिर भी आपका CM अपने को विकास पुरुष कहता है ?
मैंने राजस्थान की सड़कें देखी हैं । NH या state highway तो छोड़ दीजिए , गाँव की सड़कें भी शानदार हैं ।
विपिन भाई ने एक मज़ेदार टिप्पणी की । बोले अजीत भाई आप लोग तो हमसे भी 50 साल पीछे हैं ।
एकदम टूटी हुई सड़क पे जिसपे सड़क तो है ही नहीं , सिर्फ गड्ढे हैं , car बमुश्किल 20 की स्पीड से चल रही थी , लोगों ने तकरीबन हर 100 या 200 मी पे speed breaker बना रखे थे ।
विपिन भाई बोले , पिछड़ापन एक मानसिक अवस्था है । इसका economy या infrastructure से कोई सम्बन्ध नहीं ।
मेरे गाँव में किसी भी कंपनी के किसी भी नेटवर्क पे कोई भी नेट , 4g छोडो 2G तक नहीं चल रहा था । Jio तो खैर सिरे से गायब है । अभी यहाँ आना बाकी है ।
3 दिन बाद जब मुग़ल सराय पहुंचे तो net नसीब हुआ ।

पर कुछ positive चिन्ह भी दिखे । लगभग हर सड़क के किनारे ताज़ी ताज़ी बिछी हुई OFC बोले तो Optical Fibre cable दिखी । साथ बैठे एक मित्र ने ढांढस बधाया । सिर्फ एक साल और ……. फिर आपको हाई स्पीड net मिलेगा (thanks to Ravi Shankar )

रेलवे में जबरदस्त काम हो रहा है । हमारे जिले में दो रेलवे रुट हैं ।
एक औंडिहार गाज़ीपुर बलिया और दूसरा औंडिहार मऊ गोरखपुर ।
दोनों रूट के प्रत्येक स्टेशन पे development का काम चल रहा है । जखिनिया स्टेशन देख के तो तबियत खुश हो गयी । तमाम आधुनिक सुविधाएं और शानदार निर्माण कार्य ।
औंडिहार सारनाथ लाइन का दोहरीकरण हो चुका है । वाराणसी बलिया का विद्युतीकरण अंतिम चरण में है । खंबे लग चुके हैं , सिर्फ तार लगाना बाकी है । (thanks to Manoj Sinha )
हमारे गाँव में 50 बरस बाद नया transformer लगा है ।
पहली बार हम लोगों का पंखा भी तेज चला …… उस बेचारे को भी 140 – 150 volt की आदत पड़ गयी थी । ( thanks Piyush Goyal )
विकास कार्य जो भी है वो केंद्र सरकार के कारण ।
अकललेस जादो तो बस लखनऊ मेट्रो और लखनऊ आगरा expressway बना के मस्त हैं ।
उनका विकास सिर्फ लखनऊ सैफई तक सीमित है ।

UP को अब सिर्फ मोदी से आस है ।
सिर्फ मोदी ही प्रदेश का विकास कर सकते हैं ।

साइकिल गयी कबाड़े में हाथी चढ़ गया भाड़े में अब कोई नहीं अखाड़े में …….. सिर्फ मोदी ………

बॉलीवुड की हिंदी फिल्म का हीरो सर्वगुण संपन्न होता है ।
भलामानस , अव्वल दर्जे का चरित्रवान …… मने फिल्म की हेरोइन और vamp उस से चिपटी रहती हैं , उसे खींच खींच के अपने बेडरूम में ले जाती है पर वो पट्ठा लंगोट का इतना पक्का …… हनुमान जी का ऐसा भगत कि vamp और हेरोइन दोनों को अपनी बहन मानता है ।
हीरो के दो चार यार दोस्त चेले चमाट होते हैं जो हमेशा उसके इर्द गिर्द मंडराते उसकी चम्पी किया करते हैं ।
हीरो एक नंबर का चूतिया , जब लाश से टकराता है तो सीने में घुसे चाकू को पकड़ लेता है ……. और ठीक उसी मौके पे या तो पुलिस आ जाती है या फिर कोई और …… फिर ये पुक्का फार के रोता है कि नहीईईईईईई …….. मैंने खून नहीं किया ……..
फिर जब ये जेल चला जाता है तो उसका वो वफादार दोस्त बार बार एक ही फ़िल्मी डायलॉग बोलता है ……… मेरा दिल कहता है , मेरा दोस्त खूनी नहीं हो सकता ……. कह दो कि ये झूठ है …….

मोदी haters को अब भी भरोसा नहीं कि नामाजवादी कुनबे में वाकई जंग छिड़ी है ।
वो कहते हैं ……. नहीं ऐसा नहीं हो सकता …… मेरा दिल कहता है की ऐसा नहीं हो सकता ……. कह दो कि ये झूठ है । नामाजवादी कुनबे में झगड़ा नहीं हो सकता ।
17 जनवरी को चुनाव की अधिसूचना जारी हो जायेगी ।
बाप बेटे चचा भतीजा भाई भाई कुत्ते की तरह लड़ रहे हैं ……. एक दुसरे को नोच खसोट रहे ।
मोदी haters को फिर भी लगता है कि कोई बुरा सपना है ……. भ्रम है ……. सुबह जागेंगे तो सब ठीक होगा …….. उधर चुनाव आयोग कंफूज है ।
रामगोपाल 6 पेटी कागच जिनकी संख्या कुल डेढ़ लाख है धर आये चुनाव आयोग में ।
अमर सिंघवा बोल दिया सब फ़र्ज़ी है करो जांच ……..
चुनाव आयोग बोलता है इतना सब कागच जांचने में तो 6 महिन्ना लगेगा । उधर 10 दिन बाद अधिसूचना जारी हो जायेगी ।
अपने दुआर में कुकुर झौं झौं करने वाले कुत्तों को मालिक चार डंडा मार के दुत्कार देता है । बहुत संभव है कि चुनाव आयोग दोनों बाप बेटा को GPL मार के भगा देगा और चुनाव चिन्ह साइकिल को फ्रीज़ कर देगा मन
अखिलेश कांग्रेस से चुनावी pact के मूड में हैं ।
ऐसे में तय है कि अखिलेश गुट की कम से कम 100 सीट cong को जायेगी मने 100 नामाजवादियों का टिकट कट के कांग्रेसियों को मिलेगा ।
ऐसे में वो 100 क्या चुप बैठेंगे ?
दूसरी तरफ सिपाल मुलायम गुट भी कम से कम 250 से 300 प्रत्याशी मैदान में उतारेगा । UP की हर सीट पे सपा से टिकट मांगते 4 – 6 गंभीर प्रत्याशी हैं । हर सीट पे दो चार करोड़पति टिकट मांग रहे हैं । सिपाल का अब एकमात्र लक्ष्य है ……… अखिलेश को हराना ……..
सिपाल मुलायम अगर किसी को टिकट दे देंगे तो वो 10 – 20 हज़ार भोट तो ले ही मरेगा ।

एक तर्क दिया जा रहा है कि सपा अगर बँटी तो मुसलमान enblock बसपा में shift कर जाएगा ।
काश चुनावी राजनीति में सब कुछ इतना ही सीधा सपाट होता ।
हर मुस्लिम बहुल सीट पे 2 – 3 या 4 प्रत्याशी होंगे । सब वोट काटेंगे ।
2014 के लोस चुनाव में मोदी की सुनामी आती हुई साफ़ दिख रही थी इसके बावजूद मुसलमान एकतरफा enblock voting कर उसे रोक न पाए और बह गए ।

आपको दीखे चाहे न दिखे …….. UP में मोदी की सुनामी आ रही है ……. सब कुछ बहा के ले जाएगी ……. अईकील सईकील आथी हाथी सब बह जाएगा ……..
कोई आजपा भाजपा नहीं ……. कोई कमल नहीं …….. भोट पडेगा मोदी को ……. भोट पडेगा विकास के एजेंडे पे ………. भोट पडेगा भ्रष्टाचार के समूल नाश के लिए …….. भोट पडेगा प्रदेश के सर्वांगीण विकास के लिये ……… भोट पडेगा 24 घंटे बिजली के लिए ……. भोट पडेगा शानदार सड़कों के लिए …….. भोट पडेगा गुंडे बदमाशों के खिलाफ ……… भोट पडेगा जातिवाद के खिलाफ ……. भोट पडेगा हिंदुत्व के लिए …….. भोट पडेगा कटुओं की औकात बताने के लिए ।

साइकिल गयी कबाड़े में
हाथी चढ़ गया भाड़े में
अब कोई नहीं अखाड़े में …….. सिर्फ मोदी ………

लगता है कि कांग्रेस 44 से 4 पे आएगी ……. राहुल गांधी के नेतृत्व में ।

 

आपको याद होगा , उड़ी हमले के बाद मोदी जी की लोकप्रियता का ग्राफ अचानक बहुत तेजी से नीचे गिरा । पूरे देश में उडी हमले को ले के आक्रोश था । मोदी समर्थक ( भक्त )निराश थे और अनाप शनाप बक रहे थे । मोदी विरोधी तो बाकायदा उड़ी हमले को celebrate कर रहे थे । उन्हें देश से कोई मतलब नहीं । उड़ी हमले के रूप में उन्हें वो छड़ी मिल गयी थी जिससे वो मोदी को पीट सकते थे । उनका तर्क कुछ यूँ था ……. देख लो , फेंकू मोदी भी हिजड़ा निकला ……. हमारी तरह ।
लोग चुनाव सभाओं में मोदी के वक्तव्य शेयर करने लगे । ख़ास तौर पे वो clipping जो मोदी जी ने रजत शर्मा के कार्यक्रम आज की अदालत में बोला था …… घर में घुस के मारूंगा . लोग वही क्लिपिंग दिखा के कटाक्ष कर रहे थे ।
और फिर जब मोदी जी ने POK में घुस के surgical strike कर दी तो सब हक्के बक्के रह गए ।
अवाक् ……. भक्त ख़ुशी से नाचने लगे और विरोधियों के मुह खुले रह गए । उनके मुह से बस यही निकला …….. नहीईईईईईईई…….. ऐसा नहीं हो सकता …….. कह दो कि ये झूठ है …… झूठ है …… झूठ है ……. कोई सर्जिकल स्ट्राइक नहीं हुई ……. प्रूफ दिखाओ ……. army झूठ बोलती है …… मोदी झूठ बोलता है ……. हम ऐसे कैसे POK में घुस के मार सकते हैं ??????
उड़ी हमला मोदी के लिए एक credibility issue बन गया था । मोदी की साख दाव पे लगी थी ।
POK में हमला कर मोदी ने वो साख बचा ली ……. आम भारतीय के मन में मोदी जी के प्रति विश्वास दृढ हुआ ……. मोदी जुबान का पक्का है ……. जो कहता है वो करता है ।
मोदी की credibility नोटबंदी के बाद और बढ़ी है । अब पूरा देश और मोदी के कट्टर विरोधी भी ये मानने लगे हैं कि मोदी एक ज़बरदस्त नेता है ……. साहसिक निर्णय ले सकता है ……. आज मोदी की साख एक ऐसे नेता की है जो राष्ट्रभक्त है …… राष्ट्र को समर्पित है ……

मोदी की यही credibility विपक्षी नेताओं के लिए मुसीबत बनी हुई है । इसके विपरीत राहुल गाँधी की credibility देश में zero है । वो सिर्फ एक चुटकुला बन के रह गए हैं । समस्या ये है कि वो उल जुलूल बयानबाजी और झूठे तथ्यहीन आधारहीन आरोप लगा के अपना और ज़्यादा मज़ाक बनवा रहे हैं ।
राहुल को चाहिए कि वो अपनी विश्वसनीयता बहाल करें ……… मोदी पे झूठे आरोप लगा के वो अपनी साख को मिट्टी में मिला रहे हैं ।
जिस प्रकार मोदी दिनों दिन ऊपर उठ रहे हैं और राहुल गांधी नीचे गिर रहे हैं , लगता है कि कांग्रेस 44 से 4 पे आएगी ……. राहुल गांधी के नेतृत्व में ।