समझे Mr चमन चू*या ?

एक चमन चूतिये ने ये पोस्ट लिखी है fb पे ।
***
रिज़र्व बैंक से मेरा सवाल ??

नए नियम के अनुसार में अगर 500 और 1000 के पुराने नोट 5000 से ज्यादा जमा करूँ तो मुझे बैंक मेनेजर को ये जवाब देना होगा कि *अब तक मेने ये पुराने नोट जमा क्यों नही करवाए???*

अगर में कह दूँ कि
खुद पीएम ने कहा है 30 दिसंबर तक जमा करवा सकते हो…..
इसलिये नही करवाए तो क्या बैंक का मेनेजर मेरे इस जवाब से संतुष्ट होगा ???

*एक आम भारतीय नागरिक*

***
ऐ Mr चमन चूतिया …….
RBI तुम्हारी तरह चूतिया नहीं है ।
अगर तुम 8 nov के बाद पहली बार bank में पुराने 1000 और 500 के नोट लाये हो जमा कराने तो बैंक मेनेजर तुमसे कोई सवाल जवाब नहीं करेगा ।
ये सवाल जवाब सिर्फ उनसे होगा जो 8 Nov के बाद अब तक कई बार बैंक में 1000 – 500 के नोट जमा करा चुके हैं ……. जब भी आते हैं तो 49000 रु जमा करा के ( बिना pan card का नंबर लिखाए ) कट लेते हैं ……. ऐसे आदमियों से बैंक मेनेजर पूछेगा ……. भैया ….. ई का रोज रोज पुराने नोट ले के आते हो …….. एक ही बार में *दवा लो अपनी *यया ……. ई रोज रोज चु**ना अच्छी बात नहीं ……… एक दिन तसल्ली से चु*वा लो …….
समझे Mr चमन चूतिया ?

Comments

comments

sarita sharma

अगर तुम 8 nov के बाद पहली बार bank में पुराने 1000 और 500 के नोट लाये हो जमा कराने तो बैंक मेनेजर तुमसे कोई सवाल जवाब नहीं करेगा ।

सिद्धांततः यह ठीक है लेकिन वास्तविकता बैंकों में भिन्न है वहाँ बताने के बाद भी तथा प्रविष्टियां सिस्टम में देखने के बाद भी फार्म भरवाया जा रहा है तथा 30 दिसंबर तक जमा करवाने की तिथि एवं पूर्व में चल रही मारामारी के अतिरिक्त भी “कारण विशेष” की बात कही जा रही है। अधिक बात होने पर वे नम्र होकर कह देते हैं कि बाहर गए हुए थे लिख दें। पहले भी अनेक बैंकों में खाताधारकों व चेंजर्स के लिए पंक्ति समान ही रहने से समस्या आने पर उन्होंने (बैंक प्रबंधकों) ने कहा था कि लिखित आदेश यही हैं कि स्त्रियों वरिष्ठ नागरिकों व सामान्य की ही पंक्तियां बनाई जाएं खाताधारकों को भी चैक भुगतान व जमा उसी पंक्ति से करवाना पड़ा था। कुछ बैंकों ने अपने विवेक से तीन पंक्तियां बनाकर व्यवस्था सरल की थी।

Your email address will not be published. Required fields are marked *