मोलायम के पास क्या बचेगा ?

Godfather……. Mario Puzo की अनुपम कृति
Francis Ford Coppola की काल जयी रचना ……. विश्व फिल्म इतिहास की महानतम रचना ।

अमेरिका की 5 माफिया families की कहानी है जिसके केंद्र में है Don Corleone की family …….. जिसका Don है Vito Corleone …….. Don का रोल किया था Marlon Brando ने …….. और इस रोल ने उन्हें अमर कर दिया ।
कहानी कुछ यूँ है कि Don एक drug तस्कर Solozzo के साथ काम करने का प्रस्ताव ठुकरा देता । Solozzo को लगता है कि Don पुराने ख्यालों का है जबकि उसका बड़ा बेटा Sonny शायद काम करने का इच्छुक है । इसलिए यदि Don को रास्ते से हटा दिया जाए तो बात बन सकती है ।
Solozzo डॉन पे जानलेवा हमला करा देता है । घायल Don अस्पताल में भर्ती है । इधर Solozzo दुबारा हमला करने की फ़िराक में है ।
उधर Don का गिरोह Solozzo से बदला लेने की तैयारी कर रहा है ।
तय होता है कि Solozzo को सुलह के बहाने बुला के ठोक दिया जाए ।
जो सुलह की बात करने जाएगा वही ठोकेगा ……..
सवाल है कि आखिर सुलह की बात कहाँ होगी ? वो स्थान गुप्त है ……..
हमारी ओर से बात करने कौन जाएगा ?
Solozzo को स्थानीय Police Captain संरक्षण दे रहा है । उसके सामने ह्त्या कैसे होगी ?
कौन करेगा ?
गिरोह इन सवालों से जूझ रहा है ……..
तय होता है कि Don का सबसे छोटा बेटा Michael Corleone जो की इस माफिया गिरी के धंदे में नहीं है और एक War Hero है , वो जाएगा सुलह की बात करने और वही करेगा ह्त्या …….
अब प्रश्न है कि सुलह की बात कहाँ होगी और वहाँ तक हथियार मने Gun कैसे पहुंचेगी ।
Sonny अपने मुखबिरों से पता लगा लेता है कि सुलह की बात एक Italian Restaurant में होगी ।
हथियार पहुंचाने की ड्यूटी Clemenza की है …….
तय ये हुआ कि Michael जब बात करने जाएगा तो Police कप्तान उसकी तालाशी ज़रूर लेगा ।
Michael बिना हथियार के होगा इसलिए दोनों निश्चिन्त हो जायेंगे ।
Michael बियर पिएगा । थोड़ी देर बाद wash room जाएगा । वहाँ flush के पीछे एक पिस्तौल tape से चिपका दिया गया है । Michael wash रूम से वापस आते ही फायर झोंक देगा ……..
Sonny माइकल को समझा रहा है । डरना मत ……. घबराना मत …….
फिर Clemenza से कहता है ……. और पिस्तौल ……. पिस्तौल पहुंचाने की जिम्मेवारी तुम्हारी ……..मैं ये नहीं चाहता कि मेरा भाई वहाँ मूतने के बाद हाथ में अपना *** लिए वापस आये ………

Sonny: Hey, listen, I want somebody good – and I mean very good – to plant that gun. I don’t want my brother coming out of that toilet with just his dick in his hands, alright?

नमाजवादी कुनबे की इस लड़ाई में मुझे ऐसा लगता है कि कुछ दिन बाद जब मोलायम यादव बाहर निकलेंगे तो उनके हाथ में सिर्फ उनका ढीला ढाला *** होगा …….. पार्टी और भोटर तो अखिलेश ले उड़ेंगे ………

He’ll come out with just his limp Dick in his hand ……..

Comments

comments

shyam jagota

इतना छिछोरे टाइप की नौटंकी देख कर लगता है की अपनी बदहाली के लिए यूपी वोटर ही जिम्मेदार है

Your email address will not be published. Required fields are marked *